टरबाइन क्या है ? इसके प्रकार | Turbine In Hindi

इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि टरबाइन क्या है ? इसके प्रकार | Turbine In Hindi, टरबाइन के प्रकार | Types Of turbine. इस आर्टिकल में बहुत ही अच्छे तरीके से इन सब के बारे में जानकारी देने वाला हूं| तो चलिए शुरू करते हैं| आजकल जितनी तकनीक बढ़ रही है, बिजली की खपत भी बढ़ रही है और नई बिजली पैदा करने की तकनीक भी आ रही है, उन्हीं में से एक तकनीक है टरबाइन के जरिए बिजली पैदा करना।

इसीलिए आज समझेंगे टर्बाइन के बारे में Turbine क्या है ? ये कितने प्रकार के होते है ?

टरबाइन क्या है ?, Turbine In Hindi

वे मशीन जो द्रवचालित ऊर्जा (Hydraulic Energy) को यांत्रिक ऊर्जा (mechanical energy) में या यांत्रिक ऊर्जा को द्रवचालित ऊर्जा में रूपान्तरित करते हैं, ‘द्रवचालित मशीन’ (hydraulic machines) कहलाते हैं। द्रवचालित मशीन जो यांत्रिक ऊर्जा को द्रवचालित ऊर्जा में रूपान्तरित करते हैं, पम्प (pumps) कहलाते हैं जबकि द्रवचालित मशीन जो द्रवचालित ऊर्जा (hydraulic energy) को यांत्रिक ऊर्जा में रूपान्तरित करते हैं, टरबाइन‘ (Turbines) कहलाते हैं। 

द्रवचालित टरबाइन पानी के स्थितिज (potential) तथा गतिज (kinetic) ऊर्जा का उपयोग कर इसे यांत्रिक ऊर्जा (Machanical energy) में परिवर्तित करता है। इस यांत्रिक ऊर्जा का उपयोग electric generator के परिचालन में होता है जो टरबाइन के शाफ्ट से directly coupled होता है। इस प्रकार यांत्रिक ऊर्जा, विद्युतीय ऊर्जा (electrical energy) में परिवर्तित होती है। Electric power जो द्रवचालित ऊर्जा (पानी की ऊर्जा) से प्राप्त होती है, ‘hydro-electric power’ कहते हैं। वर्तमान में hydro-electric power का उत्पादन दूसरे sources जैसे coal, oil, etc. से उत्पन्न किये गये power की तुलना में ज्यादा सस्ता (cheap) है।

टरबाइन के प्रकार | Types Of turbine

Turbine कितने प्रकार की होती है?

  • Impulse And Reaction Turbine
  • Pelton Turbine
  • Runner and Buckets Turbine
  • Francis Turbine

तो आईये विस्तार से समझते है इन टरबाइन के बारे में –

Impulse And Reaction Turbine

आवेग टरबाइन (Impulse Turbine):

 Turbine In Hindi

इसमें available hydraulic energy सर्वप्रथम नॉजल (nozzle) की सहायता से गतिज ऊर्जा में परिवर्तित होता है। तब नॉजल से निकलने वाली उच्च वेग धारा (high velocity jet) wheel के rim के चारों ओर स्थित bucket आकृति की श्रृंखला से टकराती है| Buckets बिना दाब परिवर्तित किये धारा (jet) की दिशा को परिवर्तित करता है। फलस्वरूप संवेग (momentum) में परिवर्तन होता है जिससे buckets तथा wheel घूर्णन गति करते हैं तथा इस प्रकार टरबाइन शाफ्ट पर यांत्रिक ऊर्जा available हो जाता है। चूँकि पानी फलक (vanes) से होकर गुजरता है, टरबाइन के inlet से outlet तक वायुमंडलीय दाब होता है। कुछ महत्वपूर्ण आवेग टरबाइन Pelton wheel, Turgoimpulse wheel, Girad turbine आदि हैं।

प्रतिक्रिया टरबाइन (Reaction Turbine):

इसमें turbine runner में पानी जाने से पहले total available hydraulic energy का एक भाग गतिज ऊर्जा में परिवर्तित होता है तथा दूसरा भाग दाब ऊर्जा के रूप में रहता है। जब पानी टरबाइन runner के साथ बहता है तो वेग तथा दाब दोनों एक साथ परिवर्तित होते हैं। टरबाइन के inlet से outlei तक बहाव, under pressure होता है तथा इसलिए प्रतिक्रिया टरबाइन के blades, air tight casing में बन्द रहते हैं।

प्रतिक्रिया टरबाइन की क्रिया-विधि दर्शायी गयी है जिसमें खोखले शाफ्ट (hollow shaft) से होकर reservoir से पानी hollow disc में पहुँचता है। Disc में चार त्रिज्यीय छेद होते हैं जो nozzle की आकृति के होते हैं। जब पानी इन नलियों से निकलता है तो इसका दाब घटता है तथा rotating disc के सापेक्ष (relative) गतिज ऊर्जा में वृद्धि होती है। परिणामी प्रतिक्रिया बल (Reaction force) disc को घूर्णन गति प्रदान करता है। Disc तथा Shaft पानी की धारा (Water jet) के विपरीत दिशा में घूर्णन करते हैं।

 

पेल्टन टरबाइन (Pelton Turbine)

पेल्टन पहिया (Pelton wheel) या पेल्टन टरबाइन (Pelton Turbine) एक स्पर्शीय प्रवाह आवेग टरबाइन (tangential flow impulse turbine) होता है। इसमें पानी bucket (vanes) से runner के along the tangent से टकराता है। टरबाइन के प्रवेशमार्ग (inlet) पर केवल गतिज ऊर्जा मौजूद होता है। टरबाइन के inlet तथा outlet पर वायुमंडलीय दाब होता है। इस टरबाइन का उपयोग उच्च हैड (high heads) के लिए किया जाता है तथा इसका नाम अमेरिकन इंजीनियर L.A. Pelton के नाम पर पड़ा जिन्होंने इसका development किया|

पेल्टन टरबाइन

Runner तथा Buckets 

टरबाइन रोटर (Turbine rotor) runner कहलाता है। यह circular disk होता है जिसमें cup या bowl आकृति के buckets fix किये गये होते हैं जो disk के परिधि के चारों ओर equidistantly व्यवस्थित होते हैं। प्रत्येक bucket, विभाजक दीवार (dividing wall) जिसे splitter कहते हैं, द्वारा दो सममित भागों (symmetrical parts) में विभाजित होता है।

Splitter पानी के jet (धारा) को दो बराबर भागों में बाँटता है तथा jet, bucket के बाहरी कोर पर निकलता है। buckets या फलकों की आकृति इस प्रकार होती है कि jet 160° या 170° के कोण से विक्षेपित हो जाता है। निम्न हैड के लिए buckets कास्ट आयरन के बने होते हैं लेकिन उच्च हैड के लिए कास्ट स्टील, bronze या stainless steel के बने होते हैं।

फ्रांसिस टरबाइन (Francis Turbine)

फ्रांसिस टरबाइन एक आन्तरिक प्रवाह प्रतिक्रिया टरबाइन (inward flow reaction turbine) है जिसे अमेरिकन इंजीनियर James B. Francis ने develop किया था। प्रारम्भ में इसे आन्तरिक त्रिज्यीय प्रवाह प्रतिक्रिया (inward radial flow reaction) टरबाइन के रूप में विकसित किया गया था लेकिन बाद में इसे परिवर्तित किया गया। Moderm Francis turbine में पानी, बाहरी परिधि (Outer periphery) पर runner में त्रिज्यीय प्रवेश करता है तथा इसके केन्द्र पर अक्षीय बाहर निकलता है।

 

आज आपने क्या सीखा :-

दोस्तों आज आपने सीखा कि टरबाइन क्या है ? इसके प्रकार | Turbine In Hindi, टरबाइन के प्रकार | Types Of turbine, how many types of turbine, टरबाइन कितने प्रकार के होते हैं, turbine kya hai.  के बारे में भी आपने जाना तो अगर आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ में इसे शेयर कर सकते हो और अगर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करके बता सकते हो

Leave a Comment