आयुष्मान भारत योजना: मोदी सरकार का बड़ा तोहफा

मोदी सरकार ने भारतीय नागरिकों के स्वास्थ्य और जीवन को बेहतर बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएँ चलाई हैं। इन्हीं योजनाओं में से एक है आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना। इस योजना के तहत, सरकार ने नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ प्रदान करने का संकल्प लिया है। हाल ही में सरकार ने इस योजना में कुछ बड़े बदलाव और विस्तार की घोषणाएँ की हैं।

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य गरीब और कमजोर परिवारों को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करना है। इसके तहत लाभार्थियों को वार्षिक ₹5 लाख तक का मुफ्त इलाज प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में दिया जाता है। यह योजना देश की दो-तिहाई से अधिक आबादी को स्वास्थ्य कवर प्रदान करती है।

      
                    WhatsApp Group                             Join Now            
   
                    Telegram Group                             Join Now            

हाल के बदलाव और विस्तार

मोदी सरकार ने हाल ही में आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ्त इलाज की राशि को ₹5 लाख से बढ़ाकर ₹10 लाख करने की घोषणा की है। यह बड़ा कदम उन परिवारों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है जो बड़ी बीमारियों के इलाज में आर्थिक संकट का सामना करते हैं।

इसके अलावा, सरकार ने घोषणा की है कि इस योजना के तहत अब 70 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का आयुष्मान कार्ड बनेगा। इस फैसले से वरिष्ठ नागरिकों को विशेष लाभ मिलेगा। साथ ही, सरकार का उद्देश्य है कि अगले तीन वर्षों में लाभार्थियों की संख्या दोगुनी की जाए।

योजना का लाभ कैसे प्राप्त करें?

  1. आवेदन प्रक्रिया: आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड बनवाना होगा। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया को अपनाया जा सकता है।
  2. दस्तावेज़: आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज़ों में आधार कार्ड, राशन कार्ड, बीपीएल कार्ड आदि शामिल हैं।
  3. पंजीकरण: आवेदन के बाद, पात्रता की जांच की जाएगी और उसके बाद आयुष्मान कार्ड जारी किया जाएगा।

योजना के लाभ

  1. मुफ्त इलाज: आयुष्मान भारत योजना के तहत प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में ₹10 लाख तक का मुफ्त इलाज मिलेगा।
  2. स्वास्थ्य सुरक्षा: यह योजना गरीब और कमजोर परिवारों को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करती है, जिससे उन्हें बीमारी के समय आर्थिक संकट का सामना नहीं करना पड़ता।
  3. वरिष्ठ नागरिकों का लाभ: 70 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को आयुष्मान कार्ड मिलने से उन्हें विशेष स्वास्थ्य लाभ मिलेगा।

वित्तीय प्रबंधन

इस योजना के विस्तार के लिए सरकार ने सालाना ₹12,000 करोड़ का बजट निर्धारित किया है। अगले पांच वर्षों में यह खर्च ₹60,000 करोड़ तक पहुँच सकता है। सरकार का उद्देश्य है कि योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाया जाए।

भविष्य की योजनाएँ

सरकार ने यह भी बताया है कि आने वाले समय में इस योजना के तहत मिडिल क्लास और निम्न मिडिल क्लास के लोगों को भी शामिल किया जाएगा। इसके साथ ही, सरकार का लक्ष्य है कि देश के हर नागरिक को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ प्रदान की जाएँ।

निष्कर्ष

आयुष्मान भारत योजना मोदी सरकार की एक महत्वपूर्ण पहल है जो देश के गरीब और कमजोर परिवारों को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करती है। इस योजना के विस्तार और सुधार से लाखों लोगों को लाभ मिलेगा और वे बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं का उपयोग कर सकेंगे। यह योजना न केवल लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाएगी बल्कि उन्हें आर्थिक संकट से भी बचाएगी।

सरकार का यह कदम निश्चित रूप से सराहनीय है और इससे देश की स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार होगा। हमें उम्मीद है कि इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचेगा और वे स्वस्थ जीवन जी सकेंगे।

जय हिंद, जय भारत!

Leave a Comment